1. एक डॉक्टर माँ की वीरता

    by
    Comment
    एक डॉक्टर माँ की वीरता भोर हुई और मैं जागी, चूल्हे पे चाय चढ़ा दी थी। अस्पताल भी जाना था, सारी तैयारी कर ली थी । एक भय आया अंतर्मन में, बाहर एक दैत्य है खड़ा हुआ । क्या मैं इससे बच पाऊँगी, डर का सन्नाटा पड़ा हुआ।। बेटी की...