ओ जनाब ज़रा ठहरिये

Posted by
|

ओ जनाब ज़रा ठहरिये
एक सवाल करना है
वोटों की राजनीति में
क्यों देश को बरबाद करना है?
जब यह देश है सबका तो
क्यों इसे हिंदु-मुसलमान करना है?
पल-पल बिखरते देश को देख
रोता है मेरा दिल
यूँ हर जवान की शहादत का
क्यों अपमान करना है?
माँ भारती के लिए तो
रक्त बहुतों ने बहाया है
पर अपनों को अपनों से लङवाकर
क्यों देश को बरबाद करना है?
ओ जनाब ज़रा ठहरिये
एक सवाल करना है

Add a comment