जब भी बात करता है……….

Posted by
|

जब भी बात करता है कोई कहीं आजादी के दीवानों की बात अपने आप चल पड़ती है हिंदुस्ताहन के दीवानों की
जब भी बात करता……………………………………..
दुनिया में अपने आप में एक मिसाल है यह देश मेरा कहां मिलती है एक सी खुशबू अलग-अलग गुलिस्ता.नों की जब भी बात करता……………………………………..

सर कटाने की बात आई तो सैंकड़ों तैयार हो गए एक साथ वतन पर जां लुटाने की बात से भूख मिट गई मस्ता नों की
जब भी बात करता……………………………………..

दुश्म न की नजरें जब भी जमी हमारे देश की जमीं पर
वंदे मातरम जैसे नारों से नींद उड़ गई उन शैतानों की
जब भी बात करता……………………………………..

कोशिश दिलों को तोड़ने की हद से ज्या.दा की रकीबों ने
दिलों में दीवार बनाने की ख्वा्हिश रही अधूरी नादानों की
जब भी बात करता……………………………………..

मशाल थामी नन्हे -मुन्ने. हाथों ने घर से बाहर निकलकर
तिलक विजय का लगाकर मुराद पूरी की गई परवानों की
जब भी बात करता……………………………………..

न जाने कितने सपूत पैदा हुए भारत की पावन धरती पर तिरंगे के लिए जान देने को तैयार थी टोलियां नौजवानों की
जब भी बात करता……………………………………..

Add a comment