झंडा न झुकने पाये.

Posted by
|

प्राण भले ही जाये मित्रो,
पर झंडा न झुकने पाये.

झंडा हमारी शान है मित्रो,
मर मिटने की आन है मित्रो.

इसके तीन रंगों का फलसफा
महत्वपूर्ण और महतारा है

केसरिया बाना वीरों का
श्वेत शांति का नारा है

हरा रंग खुशहाली जग में
यही सन्देश हमारा है.

बीच चमकता चक्र सितारा,
धर्म कर्त्तव्य की धारा है.

शान है अरु आन हमारी,
सर झुकाती इसे हिंद सारी.

जितनी भी बाधाएं आयें,
पर झंडा न झुकने पाये.

आजादीपन की यही निशानी,
इसके पीछे कई कहानी.

ओ’ डायर का इतिहास काला,
भूलो न तुम जलियान वाला.

गोलियों की जम कर झड़ी थी,
नींव आज़ादी की पड़ी थी.

याद करो वो खूं बहाना,
झंडा कभी न नीचे झुकाना.

सब कहो कि सर कटेगा,
झंडा नीचे नहीं झुकेगा.

जय हिंद!
बोलो जय हिंद!!

Add a comment