तेरी शान रहे तिरंगे

Posted by
|

!! तेरी शान रहे तिरंगे !!
शूल चुभें या बरसें फूल ,
सत्य सदा से तेरा मूल
तेरी साँसों से संचारित..
मुझमें प्राण रहें …!
तेरी शान रहे तिरंगे,
तेरी शान रहे ..!!
-१-
भाल सदा ऊंचा हो तेरा
शिखर मिलें तुमको /
विश्व-पटल पर सबसे आगे ,
सूरज सम चमको //
रक्त भरी रग-रग संचालित,
है तेरे कारण /
पल पल ध्यान रहे तिरंगे ,
तेरा ध्यान रहे //
तेरी शान रहे ..!!
-२-
दशों दिशाओं में लहराए,
आनंदित झूमे /
रंग न फीके हों दामन के ,
अम्बर पग चूमे //
छू न सके वैरी बन कोई
तेरा तन पावन /
तेरी आन रहे तिरंगे …
तेरी आन रहे //
तेरी शान रहे ..!!
-३-
युग-युग गौरव गाथा तेरी,
हर्षित सब गायें /
तेरे यश आदर्शों के हित,
बलि-बलि हम जाएँ //
प्रेम सुधा से सुरभित क्षण-क्षण,
हो तेरा आँगन /
ये अरमान रहे तिरंगे ,
यह अरमान रहे //
तेरी शान रहे ..!!
– भावना तिवारी –

Add a comment