शब्द दर शब्द

Posted by
|

शब्द दर शब्द
चुक रही हैं इबारतें
गीता के श्लोक
वेदों की सीख
कुरआन की आयतें
शब्द……………
१- ‘बांटों और राज करो’
फिरंगी- रणनीति थी
पर असम, काश्मीर ने
पुनः वह गाथा कही
हाशिये पर हाँफते
लाचारियों के काफिले
बेसबब चलती रहीं –
सियासती कवायदें
शब्द……………
२- भेड़ सम जनचेतना
जो हांकते थे रहनुमा –
कुर्सियों के खेल ने
पहुंचा दिया उनको कहाँ!
लूट, बदहाली पे फिर
ये शोरोगुल तब किसलिए?
मर गयी इंसानियत
ज़िंदा रहीं रवायतें
शब्द …………….
३- देश है जिनकी बपौती
व्यवस्था जिनकी गुलाम
घोटालों का खेल खेलें रोज वे
सुलगे अवाम
तांडव से आतंक के –
फिर बस्तियां उजड़ी तमाम
पंगु जनादेश पर
कायम रही विरासतें
शब्द ………………….

Add a comment